इस इलाके में चोटी काटने के नए मामलो से इलाक़े में दहसत। जाने क्या है चोटी काटने की भयानक वजह

चोटी काटने का पहला वक्या राजस्थान के एक छोटे गॉव में शुरू हुआ। पर अब ये स‌िलस‌िला हर‌ियाणा से होते हुए द‌िल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार तक जा पहुंचा है। हरयाणा में अभी तक छोटी काटने के 100 से ज्यादा मामले सामने आ चुके है। वही देश की राजधानी दिल्ली में रोजाना 10 से ज्यादा मामले सुनने में आ रहे है। इन मामलो से महिलाएं सहमी हुई हैं और कई इलाको में लोग रात-रात भर पेहरा दे रहे है।

इतनी वारदातें होने के बावजूद अब तक यह पता नहीं लगाया जा सका है क‌ि आख‌िर वो कौन है जो ये काम कर रहा है। आगे पढ़े:

नई ख़बरों के अनुसार दिल्ली के छावला के कांगनहेड़ी में चोटी काटे जाने की घटनाये हुई हैं। इस इलाके में मंगलवार रात दो अन्य महिलाओं की भी चोटी काट ली गई।

इन 2 नए मामलो के बाद यहाँ कुल ऐसे 5 मामले सामने आ चुके है।

इन पांचो ही मामलों में महिलाएं सिर में तेज दर्द होने के बाद बेसुध हो गईं। बाद में उनकी चोटी कटी हुई पड़ी मिली।

पुलिस ने तीनों चोटी को कब्जे में कर उसे जांच के लिए भेज दिया है।

सोशल मीडिया पर यह मामला बड़ी तेजी से छाया हुआ है। अफवाहें भी जोरों पर हैं।

इन घटनाओं के पीछे कोई एक कीड़े का नाम बता रहा है तो कोई चुडै़ल या अदृश्य शक्ति, वहीं कुछ लोग आए दिन फोटो पोस्ट कर बता रहे हैं कि विभिन्न स्थानों पर चोटी काटने वाले गैंग के सदस्य पकड़े गए हैं।

इन मामलो की संख्या आये दिन बढ़ती जा रही है।

पुलिस के अनुसार ये सारे मामले जानबूझ कर पब्लिसिटी के लिए अंजाम दिए जा रहे है।

इस समस्या का समाधान ढूढ़ने के लिए पुलिस काफी मसक्कत कर रही है।

Loading...

Leave a Reply