शव यात्रा देखते ही करें ये काम, पूरी हो जाएगी हर मनोकामना

"मृत्यु एक ऐसा सत्य है जिसे टाला नहीं जा सकता। जिसने जन्म लिया है उसकी मृत्यु निश्चित है।"

भागवत गीता के इस कथन के मुताबिक जीवन का अंतिम सत्य मृत्यु है। मृत्यु ही प्रकर्ति का अटल नियम है। मृत्यु जीवन का अंतिम पड़ाव है और सायद इसी लिए व्यक्ति की अंतिम यात्रा (शवयात्रा) बहुत महत्व रखती है।

किसी भी इंसान की मृत्यु के बाद उसकी शवयात्रा निकली जाती है। शवयात्रा निकालने के लिए अलग-अलग धर्मो में तरह-तरह के रीती रिजाब है। हमारे शस्त्रों में बताए गए नियमो के मुताबिक शवयात्रा निकालने से धर्म लाभ तो प्राप्त होता है साथ ही इससे मृत आत्मा को शांति भी मिलती है।

आज हम आपको शवयात्रा से जुडी कुछ मान्यताओं के बारे में बताने जा रहे है जिन्हें मानने से आपको उचित लाभ मिल सकता है।

1. शव यात्रा देखते ही प्रणाम करें

ऐसा करने के पीछे शास्त्रों में वजह बताई गई है की ऐसा करने से जिस आत्मा ने अभी शरीर छोड़ा है वो आपके सरे दुख साथ ले जाये। इसके साथ "शिव-शिव" का जाप करने से आपको मुक्ति भी मिलती है।

2. आत्मा की शान्ति के लिए करें प्रार्थना

शवयात्रा को देखकर ठहरकर मृत व्यक्ति की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करने से न सिर्फ उसकी आत्मा को शांति मिलती है बल्कि आपको भी लाभ लाभ मिलता है। हमारे शास्त्रों में इसे पुण्य का काम मन गया है।

Loading...

Leave a Reply