‘SEक्स एजुकेशन’ के वक़्त इन बातों का ध्यान रखना है बेहद जरूरी

हम लोग समय के साथ काफी मॉडर्न होते जा रहे है। परन्तु सेक्स एजुकेशन का मुद्दा उठने पर हम लोग नजरे चुराने लगते है। धीरे धीरे इस क्षेत्र में जागरूकता काफी बाद गयी है परन्तु फिर भी लोग सेक्स एजुकेशन को जरूरी नहीं मानते। हमारे टीचर्स ही उसे पढ़ाने में झिझकते हैं जबकि पाठ्यक्रम में 'SEक्स एजुकेशन' और 'रिप्रोडक्टिव सिस्टम' जैसे टॉपिक्स शामिल किये गए है.हम इन्टरनेट पर जानकारी हासिल कर सकते है लेकिन ज़रूरी नहीं है की यह जानकारी सही हो।

यह जरूरी है की 'SEक्स एजुकेशन' की जरूरत को समझा जाए

इन्टरनेट बन रहा है टूल।

अपने शरीर, फंक्शनलिटी और जरूरत को समझना गलत नहीं होता है। यह आपको कई मुसीबत, बीमारी से बचाता है और खुद को बेहतर समझने का मौका देता है।

Loading...

Leave a Reply